महासमुन्‍द - पुलिस जवानों के लिए जिले के पुलिस लाइन परसदा में आर्ट ऑफ लिविंग के '' आनंद अनुभूति शिविर '' का छह दिवसीय आयोजन 2 मार्च से 7 मार्च तक किया गया।

आधुनिक युग में भौतिक सुख सुविधाओं की जो उन्नति हुई है उसका श्रेय निश्चित ही विज्ञान या तकनीकी ज्ञान को जाता है, परन्तु इतनी सुख सुविधाओं के बाद भी हम स्वस्थ हैं क्या? क्या हम खुश हैं? तनावरहित मन और रोगमुक्त शरीर हर व्यक्ति का जन्मसिद्ध अधिकार है, परंतु हम ने ना कभी सीखा है कि कैसे नकारात्मक भावों को संभाले? कैसे तनाव से बचें?
 कुछ इन्ही उद्देश्यों को ध्यान में रख कर जिला पुलिस महासमुंद के पुलिस जवानों के लिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्रीमती नेहा चम्पावत जी के अभिनव प्रयास से जिले के पुलिस लाइन परसदा में आर्ट ऑफ लिविंग के '' आनंद अनुभूति शिविर '' का छह दिवसीय आयोजन 2 मार्च से 7 मार्च तक किया गया।
हमारे जिले की सुरक्षा व आम जन के सहयोग के लिए प्रतिबद्ध जिले के पुलिस विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों को कार्य की अधिकता एवम परिवार के प्रति समयाभाव की वजह से तनावयुक्त जीवन शैली से मुक्त करने व बौद्धिक, शारीरिक व मानसिक विकास के उद्देश्य से जिले के लगभग 50 अधिकारियो - कर्मचारियों के लिए यह आयोजन आर्ट ऑफ लिविंग के अंतराष्ट्रीय प्रशिक्षक प्रभात कुमार जी मार्गदर्शन में संपन्न हुआ 
 
आंनद अनुभूति शिविर में हिस्सा ले रहे जवानों ने योग,प्राणायाम, ध्यान ,ज्ञान व परम पूज्‍य श्री श्री रविशंकर जी प्रदत्त दुनिया के लिए वरदान '' सुदर्शन क्रिया '' के द्वारा तनावरहित मन ,स्वस्थ शरीर।,व्यक्तित्व विकास ,समय प्रबन्धन, अपनत्व का भाव, सकारात्मक सोच का विकास व खुशहाल जीवन शैली को महसूस किया ।
शिविर के समापन अवसर पर माननीय नेहा चम्पावत जी उपस्थित रही जिसमें जवानों ने शिविर में प्राप्त अनुभव को बांटा।शिविर से उत्साहित जवानों के अनुभव को ध्यान में रखते हुए जिले के विभाग में कार्यरत अधिकारियो व  कर्मचारियों के लिये अगले शिविर जल्द आयोजन की बात कही।

District: 
Mahasamund
Post Image: